स्कूल बसों से पुरुष ड्राइवरों की हो सकती है छुट्टी!

0
35

नई दिल्ली – देशभर के तमाम स्कूलों के बस ड्राइवरों की जल्द ही छुट्टी हो सकती है। स्कूली छात्रों के साथ हो रहे अधिकांश अपराधों में बस चालक, कंडक्टर और सहायक स्टाफ के शामिल होने के मद्देनजर केंद्र सरकार अब पुरुष ड्राइवरों के बजाय महिलाओं की तैनाती पर विचार कर रही है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को कहा कि दिल्ली के एक विद्यालय में बच्ची के साथ दुष्कर्म और हरियाणा के गुरुग्राम के एक विद्यालय में बच्चे की हत्या की घटनाएं बेहद चिंताजनक हैं। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं निजी तौर पर भी बहुत दुखी हूं, मेरी भी पोती स्कूल जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम करने के उपायों पर विचार कर रही है। इसी के तहत सरकार स्कूल बसों में केवल महिला कर्मचारियों की तैनाती पर विचार कर रही है।

जावड़ेकर ने कहा कि एक और विचार मन में आया है कि क्यों ना स्कूल बस की ड्राइवर महिला हों और अधिक से अधिक कर्मचारी महिला हों। जावड़ेकर ने कहा कि इससे छात्र स्कूलों और रास्ते में स्वयं को सुरक्षित महसूस करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे सुरक्षा के लिहाज से स्थिति भी बेहतर हो जाएगी।

शिक्षा सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय कमेटी का गठन: दिल्ली सरकार

दिल्ली सरकार ने स्कूल में बच्चों के साथ हो रही निर्मम घटनाओं के मद्देनजर स्कूल सुरक्षा पर एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया है। दिल्ली सरकार ने कृष्णा नगर में पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म मामले में दिल्ली सरकार ने सोमवार शाम 4 बजे एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई।

बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘दिल्ली सरकार ने एक उच्च स्तरीय कमेटी बनाई है, यह कमेटी दिल्ली के स्कूलों के सिस्टम, सीसीटीवी, पुलिस वेरिफिकेशन को लेकर रिपोर्ट देगी। दिल्ली के सभी स्कूलों को अपने स्टाफ का पुलिस वेरिफिकेशन करा कर वेबसाइट पर डालनी पड़ेगी और ये हर महीने अपडेट करना पड़ेगा।‘ उन्होंने कहा एक हफ्ते के अंदर-अंदर पुलिस वेरिफिकेशन किया जाएगा, जो भी स्टाफ स्कूल में काम कर रहा है उन सबका तीन हफ्ते के अंदर वेरिफिकेश कराने का निर्देश दिया है। दिल्ली सरकार के अनुसार पुलिस ने 15 दिन के अंदर ये काम कर लिया है। सभी स्कूल अपने पूरे स्टाफ की जानकारी डायरेक्ट्रट की साइट पर उपडेट करेंगे।

सिसोदिया ने कहा, ‘दिल्ली के सभी स्कूलों को अपने हर कमरे में सीसीटीवी लगाना पड़ेगा और इसकी रिपोर्ट हर महीने वेबसाइट पर अपडेट करनी पड़ेगी। जब तक देश के बड़े प्राइवेट स्कूलों को राजनैतिक संरक्षण से मुक्त नहीं कराया जाएगा, तब तक ये अपनी मनमानी करते रहेंगे।‘

गौरलतब कृष्णा नगर इलाके में स्थित प्रतिष्ठित निजी स्कूल में सिक्योरिटी गार्ड द्वारा पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मामला शनिवार दोपहर का है। मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने स्कूल के चपरासी को गिरफ़्तार किया है। यहां आरोपी चपरासी तीन साल से स्कूल में काम कर रहा था लेकिन उसका कोई पुलिस वेरिफ़िकेशन नहीं कराया गया था। इसको लेकर दिल्ली सरकार ने रविवार को एसडीएम विवेक विहार को न्यायिक जांच के आदेश भी दिये है। मामले में सरकार ने एसडीएम तीन दिन में रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

Advt