रेयान स्कूल – सुप्रीम कोर्ट का कड़ा रुख

0
27

नई दिल्ली – हरियाणा के गुरुग्राम स्थित रेयान स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की हत्या की सीबीआई से जांच की मांग करने वाली याचिका पर सोमवार को सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा सरकार, केंद्र सरकार, सीबीआई और सीबीएसई को नोटिस जारी किया है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली नोटिस का जवाब तीन हफ्ते में देने का निर्देश दिया है। उधर, हत्या के मामले में स्कूल के दो अधिकारियों को गिरफ्तार कर किया गया है। इसके साथ ही अभिभावकों पर लाठीचार्ज के मामले में दो थानों केे एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा है कि छात्र के परिजन अगर चाहते हैं तो राज्य सरकार मामले की सीबीआई जांच कराने को तैयार है।

सोमवार सुबह प्रद्युम्न के पिता ने सुप्रीम कोर्ट से एक याचिका दायर कर सुनवाई का आग्रह किया था, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट सोमवार को ही सुनवाई करने पर सहमत हो गया। गुरुग्राम के रेयान स्कूल में एक सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी जिसके बाद अभिभावकों में काफी आक्रोश है। मृत छात्र प्रद्युम्न के पिता ने सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने सीबीआई जांच, परिवार की सुरक्षा, सभी स्कूली छात्रों की सुरक्षा और स्कूल अधिकारियों पर केस दर्ज करने की मांग की है। सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा कि ये केवल रेयान स्कूल की चिंता नहीं है। प्रद्युम्न की मौत का देशभर के स्कूलों में असर होगा। ये सभी छात्रों की सुरक्षा का सवाल है।

मृतक छात्र प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने पूरी जांच प्रक्रिया पर सवाल उठाया है। उनका आरोप है कि जांच में स्कूल प्रबंधन को बचाया जा रहा है। इस मामले में आरोपी परिचालक अशोक के साथ अन्य लोग भी शामिल हैं। लेकिन जांच में उनको शामिल नहीं किया जा रहा है क्योंकि प्रद्युम्न के स्कूल में आने के कुछ ही देर बाद हत्या हो गयी थी। इस दौरान किसी ने भी प्रद्युम्न की आवाज नहीं सुनी। यह संदेह उत्पन्न करता है। ऐसा लगता है कि पूरे मामले में अशोक साथ अन्य लोग भी शामिल थे।

उधर, सोमवार को पुलिस ने इस मामले में रेयान इंटरनेशन स्कूल के उत्तर क्षेत्र के एचआर हेड और भोड़सी स्कूल के कोआर्डिनेटर को गिरफ्तार कर लिया है। रविवार को स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इसी के बाद पुलिस ने यह कदम उठाया है। इन दोनों की गिरफ्तारी जेजे एक्ट के तहत की गयी है। दूसरी तरफ अभिभावकों पर लाठीचार्ज के मामले में दो थानों के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है। सदर थाना और सोहना रोड थाने के एसएचओ को सस्पेंड किया गया है।

गौरतलब है कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में शुक्रवार की सुबह कक्षा दो के छात्र सात वर्षीय प्रद्युम्न की गला काटकर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस के अनुसार यह हत्या स्कूल के बस के परिचालक ने छात्र के साथ यौन उत्पीड़न में असफल होने के बाद की थी। पुलिस ने प्राथमिक जांच के आधार पर उसी दिन आरोपी परिचालक अशोक कुमार को हत्या में प्रयुक्त चाकू के साथ गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन स्कूल प्रबंधन की कार्यप्रणाली और इस घटनाक्रम में कई तथ्यों को छुपाये जाने से स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक काफी नाराज हैं। यहां पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों और अन्य लोगों की भीड़ ने कल स्कूल के बाहर स्थित शराब के ठेके को भी जला दिया था। उस समय आक्रोशित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज का भी सहारा लेना पड़ा था।

हालांकि हरियाणा सरकार इस पूरे प्रकरण को काफी गंभीरता से ले रही है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मृतक छात्र के परिजनों से बात की तथा आश्वासन दिया कि अगर वह जांच से संतुष्ट नहीं हुए, तो सरकार इस प्रकरण की सीबीआई या किसी भी एजेंसी से जांच कराने को तैयार है। हरियाणा सरकार के शिक्षा मंत्री प्रोफेसर रामबिलास शर्मा ने कल गुरुग्राम का दौरा किया था।

Advt